बैंक में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, घंटो तक खड़ी रही थी लाइन में

8 नवम्बर की रात नोटबंदी के फैसले के बाद से बैंको की लाइन खड़े होने के कारण अब तक कई लोगो की मौत हो चुकी है। नोटबंदी के इतने दिन बाद भी लम्बी लाइने कम होने का नाम नही ले रही है। कानपूर के देहात जिले में एक महिला जिसका नाम सर्वेशा है, 2 दिसम्बर को पंजाब नेशनल बैंक में 11 बजे पैसे निकलवाने के लिए अपनी सास के साथ बैंक पहुँचती है। सर्वेशा गर्भवती होकर भी घंटो लाइन में खड़ी रहती है। 3:45 बजे के आसपास वो काउंटर के पास पहुँच पाती है लेकिन उसी समय सर्वेशा को प्रसव पीड़ा शुरू हो जाती है। इसके बाद बैंक में खड़ी दूसरी महिलाओ ने बैंक में उसकी डिलीवरी करवाई। सर्वेशा ने एक स्वस्थ लड़के को जन्म दिया।

_c0a553ac-b8c1-11e6-90a3

बाद में बैंक में आई महिलाओ और पुलिस की सहायता से पुलिस वेन में सर्वेशा को हॉस्पिटल ले जाया गया। जानकारी के अनुसार झींझक के मंगलपुर इलाके की सर्वेशा के पति की मौत 3 महीने पहले एक एक्सीडेंट में हो गई थी। अपने पति की मौत के बाद सरकार से मिली मदद के पैसे निकालने के लिए अपनी सास के साथ बैंक गई थी।

सरकार की मदद से आये पैसो से घर बनवाने के लिए पहली क़िस्त निकालने के लिए झींझक ब्रांच सर्वेशा और उनकी सास गई थी। वे घंटो लाइन में खड़े रहे जब नंबर आने ही वाला था तो उन्हें पीड़ा शुरू हो गई और उन्होंने वही बच्चे को जन्म दिया।