नए नोटों के फैसले की बड़ी वजह है ये शक्स, जानिए कौन है ये

मंगलवार की शाम। सेनाध्यक्षों से मिलने के बाद PM मोदी जी द्वारा राष्ट्र के नाम संबोधन दिए जाने की खबरे आती है। पुरे देश ये अनुमान लगा रहा था की भारत-पाकिस्तान से तनाव के बीच कोई बड़ी अहम घोषणा कर सकते है। लेकिन जब 8 बजे के बाद मोदी ने 500 और 1000 के नोटों को बंद करने का एलान किया तो सब के सब यकीन नही कर पा रहे थे। मोदी सरकार के इस फैसले से चारों तरफ चर्चा होने लगी है। लेकिन लोगो को अभी यह जानकारी नही है उस आदमी की जो इस फैसले की बड़ी वजह बना। उस शख्स का नाम अनिल बोकिल है।

anil_bakoli

मोदी ने अनिल को मुलाकात के लिए 9 मिनट का वक़्त दिया था, लेकिन जब मिले तो 2 घंटे तक सुनते रहे

कौन है अनिल बोकिल..?

पुणे, महाराष्ट्र के इंजिनियर है अनिल। वे अर्थक्रांति संस्थान के मुख्य सदस्य है, इन्ही के प्रस्ताव पर PM मोदी ने नोटों को बदलने का अहम फैसला लिया।

आपको बता दे अनिल चुनाव से पहले मोदी जी से मिले थे। उन्हें सिर्फ 9 मिनट दिए गए थे अपनी बात रखने के लिए।

लेकिन जब करप्शन और नकली नोटों को रोकने के लिए जब इनका प्रस्ताव सुना तो 2 घंटे तक सुनते रहे।

राहुल गांधी सी भी मिले थे अनिल, सिर्फ 15 सेकंड का दिया था वक्त

क्या है अर्थक्रांति संस्थान..?

एक इकॉनोमिक एडवैजरी बॉडी है अर्थक्रांति संस्थान। इस ग्रुप में चार्टेड अकाउंट और इंजिनियर होते है। अर्थक्रांति ने जो प्रस्ताव दिया था उसमे उन्होंने काले धन की रोकथाम, महंगाई, बेरोजगारी की समस्या और आतंकियों की फंडिंग रोकने के लियी, कारगर बताया गया।