नोट बंद होने की वजह से महिला का अंतिम संस्कार हुआ टायरों पर

देश भर में 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। छोटी परेशानियां हो तो लोग इन्तेजार कर सकते है पर जब बात इस हालात में हो की किसी के घर में मौत हो गयी हो तो वो अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी कैसे खरीदेगा। ऐसा ही एक मामला आया है मध्य प्रदेश के छतरपुर से जहां एक 70 साल की महिला की मौत हो जाती है और घर वालों को अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी नही खरीद पाते क्योंकि व्यापारियों ने 500 और 1000 के नोट लेने से मना कर दिया। जिसके कारण घर वालो को मजबूरी में पुराने टायरों को जला कर अंतिम संस्कार करना पड़ा।

family-members-did-not-get-wood-for-funeral

शहर सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के मातवन मोहल्ले के वार्ड नंबर 3 में 70 साल की बूढी महिला राजबाई की आधी रात बीमारी के कारण मौत हो गयी। घरवालों ने जब बाजार से अंतिम संस्कार का सामान लेने गये तो दुकानदारों ने 500 और 1000 के नोट लेने से मन कर दिया।

family-members-did-not-get-wood-for-funeral_3

घरवालों ने बहुत रिक्वेस्ट की लेकिन दुकानदारों का दिल नही पिघला। उसके बाद मजबूरी में घरवालों ने मकान पर लगे खप्पर से लकड़ी और टायर निकालकर अपनी माँ का अंतिम संस्कार किया।

family-members-did-not-get-wood-for-funeral-2

जब इस मामले का पता प्रशाशन को लगा, तो उन्होंने तुरंत व्यवस्था के आदेश दिए। लेकिन तब तक देर हो चुकी थी, अंतिम संस्कार हो चूका था। पर आगे इस परिवार को कोई दिक्कत ना हो इसलिए प्रशाशन ने इंतेजाम करने के निर्देश दिए।